Cricket

जब भारत के विकेटकीपर समेत सभी 11 खिलाड़ियों ने गेंदबाज़ी की तो ये रहा मैच का रिजल्ट

क्रिकेट मैच में 11 खिलाड़ी एक टीम से खेलते हैं. जिनमें से कुछ बल्लेबाज कुछ ऑलराउंडर और कुछ गेंदबाज होते हैं. आमतौर पर 11 खिलाड़ियों में से चार या पांच खिलाड़ी गेंदबाज के तौर पर टीम में खेलते हैं. अगर बल्लेबाज़ भी बॉलिंग करें तो सात से आठ खिलाड़ी गेंदबाजी कर सकते हैं. फिर भी विकेटकीपर तो गेंदबाजी नहीं करता. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे क्रिकेट मैच के बारे में बताने वाले हैं जिसमें सभी 11 खिलाड़ियों ने गेंदबाजी की थी.

Third party image reference

दरअसल ये अनोखा मैच भारत और वेस्टइंडीज के बीच सन 2002 में खेला गया था. सन 2002 में भारत वेस्टइंडीज दौरे पर पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने गया था उस दौरान चौथे टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था तब भारत ने 9 विकेट के नुकसान पर 513 रन बनाकर पारी घोषित कर दी थी.

Third party image reference

हालांकि इस मैच के दौरान भारत के पास जवागल श्रीनाथ, आशीष नेहरा, जहीर खान, अनिल कुंबले जैसे बेहतरीन गेंदबाज थे. लेकिन कुंबले के जबड़े में गेंद लगने की वजह से अनिल कुंबले घायल हो गए थे. जिस वजह से सभी खिलाड़ियों ने गेंदबाजी करने का फैसला किया. फिर क्या था विकेटकीपर अजय रात्रा से लेकर कप्तान सौरभ गांगुली ने भी गेंदबाजी की.

Third party image reference

वेस्टइंडीज ने अपनी पहली इनिंग में 9 विकेट के नुकसान पर 629 रन बनाया और पारी घोषित कर दी और अंत मे यह मैच ड्रॉ हो गया. इस तरह भारत ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज को 1-1 से बराबर कर लिया था और 115 रन बनाने वाले अजय रात्रा को मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया. हालांकि यह अपने आप में ही अनोखा मैच था. जिसमें विकेटकीपर समय टीम के सभी 11 खिलाड़ियों ने गेंदबाजी कर एक अनोखा रिकॉर्ड बनाया.