Cricket

स्टेडियम के बाहर चाय बेचने वाले दोस्त को पहचान कर धोनी ने यह किया

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कैप्टन कूल यानी महेंद्र सिंह धोनी की जितनी तारीफ की जाए वह कम है. उन्होंने बतौर कप्तान देश के लिए जो किया है वह किसी से नहीं छुपा. यहां तक कि जब वह मैदान पर रहते हैं तो उनके साथी खिलाड़ी उनकी मौजूदगी बस से ही खुद को उत्साहित महसूस करते हैं. लेकिन आज हम आपको धोनी की एक अलग छवि के बारे मे बताने वाले है जिसमें वह अपने दोस्तों की दिल खोलकर मदद करते हैं फिर चाहे वह दोस्त चाय वाला ही क्यों ना हो.

Third party image reference
Third party image reference

हालांकि किस्सा थोड़ा पुराना है. क्योंकि यह किस्सा तब का है जब भारत और वेस्टइंडीज कि सीरीज चल रही थी इसलिए यह किस्सा आप सभी को बता रहा हूं. यह बात तब की है जब क्रिकेट मैच खत्म होने के बाद सभी खिलाड़ियों के साथ धोनी भी स्टेडियम से बाहर निकल रहे थे. तभी उनकी नजर स्टेडियम के बाहर लगे एक चाय स्टाल पर गई. जहां उन्होंने देखा कि उनका एक पुराना दोस्त चाय बेच रहा है.

Third party image reference
Third party image reference

दरअसल यह यह चाय वाला धोनी का दोस्त अब बना जब धोनी रेलवे में टीटीई हुआ करते थे और धोनी अक्सर इस चाय वाले दोस्तों यानी थॉमस के दुकान पर चाय पीने जाते हैं और कई बार तो दिन भर उसकी दुकान पर समय व्यतीत कर दिया करते थे. स्टेडियम से निकल रहे धोनी ने तुरंत ही चाय वाले थॉमस को पहचान लिया और उसके पास जाकर उसे गले से लगा लिया.

Third party image reference

बताया जाता है कि धोनी ने उस थॉमस को अपने घर पर डिनर के लिए बुलाया और अपनी टीम से मिलवाया साथ ही उसकी मदद की. जिससे थॉमस आज एक अच्छा खासा रेस्टोरेंट चला रहे है. यह पहली बार नहीं है जब धोनी ने दिल खोलकर अपने दोस्तों की मदद की हो ना सिर्फ दोस्त बल्कि धोनी के बार सार्वजनिक रूप से भी कई लोगो की मदद कर चले है.